Virat Kohli Biography: विराट कोहली का जन्म 5 नवम्बर 1988 को दिल्ली में एक साधारण पंजाबी परिवार में हुआ था। विराट कोहली के पिता जी का नाम प्रेम कोहली है। विराट के पिता पेसे से एक अपराधिक वकील थे और उनकी माता का नाम सरोज कोहली है जो एक गृहिणी है। विराट कोहली के एक बड़े भाई हैं जिनका नाम विकाश और एक बड़ी बहन भी है जिनका नाम भावना है।

विराट कोहली के परिवार का फोटो

बचपन में क्रिकेट के शौकीन हो विराट कोहली और अपने पिता से करवाई थी बॉलिंग

विराट कोहली के परिवार के अनुसार जब विराट 3 साल के बच्चे थे तभी उन्होंने क्रिकेट बैट को अपने हाथ में आजमाने लगे थी, और विराट जब बचपन में खेलते थे तो अपने पिता प्रेम कोहली को बोलिंग करने के लिए कहा करते थे। विराट उत्तम नगर में पले बढ़े और विराट शुरुवाती स्कूली पढ़ाई लिखाई विशाल भारती पब्लिक स्कूल से ग्रहण की। 1998 में, पश्चिमी दिल्ली में एक क्रिकेट अकादमी का निमार्ण हुआ और विराट कोहली 9 साल की उम्र में ही अकादमी को ज्वाइन कर लिया और उसमें शामिल हो गए।

विराट में क्रिकेट भावना देखकर बचपन मे उनको क्रिकेट अकादमी ज्वाइन करवा दिया गया।

File Photo: Virat Kohli

विराट कोहली के पिता ने तभी कोहली को अकादमी में शामिल करवाया जब उनके पड़ोसी ने उनसे बोला की, “विराट कोहली को गल्ली क्रिकेट में ज्यादा समय व्यर्थ नही करना चाहिये बल्कि उसे किसी क्रिकेट अकादमी में व्यावसायिक रूप से क्रिकेट सीखना चाहिये।” राजीवकुमार शर्मा के यहां विराट कोहली ने प्रशिक्षण लिया और सुमित डोगरा अकादमी में क्रिकेट भी खेला। 9 वी कक्षा में विराट को सविएर कान्वेंट स्कूल में भेज दिया गया ताकि उन्हें क्रिकेट प्रशिक्षण में मदद मिल सके। और कोई आभाव ना हो सके।

पढ़ने में कैसे थे विराट कोहली

Image Source : Google Photos

खेलों के साथ ही कोहली पढाई लिखाई में भी अच्छे ही थे, विराट कोहली के शिक्षक उन्हें, “एक होनहार और बुद्धिमान लड़का बताते है।” लेकीन कोहली एक इंटरव्यू में बताते हैं कि उनको मैथ से सक्त नफरत है। और कोहली ने बताया था कि उनका Mathematics में 100 में से 2 नंबर केवल पाए थे। अब विराट कोहली, जिनके बारे में देश दुनिया में हर कोई उनको जानता है। जो कि भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज खिलाड़ी हैं और कप्तान रहे हैं।

सचिन और धोनी के बाद विराट कोहली ही जमा सके अपनी धाक

Image Source :Google Photos

भारतीय किक्रेट टीम में सचिन तेंदुलकर और महेन्द्र सिंह धोनी के बाद जिस खिलाड़ी ने भारतीय किक्रेट टीम को एक शानदार मजबूती दी है और अपनी धाक जमाई है। वो हैं सिर्फ विराट कोहली, जिसने किक्रेट में अपने आक्रमक प्रदर्शन से बच्चे-बच्चे जुबान और उनके के दिल में अपने लिए जगह बनाई है। विराट कोहली को भारतीय क्रिकेट का बैक बोन भी कहा जाता है, क्योंकि वह दाएं हाथ से खेलने वाले अंतराष्ट्रीय किक्रेटर और सबसे प्रतिभाशाली और होनहार क्रिक्रेटरों में से एक है।

विराट कोहली और अनुष्का शर्मा के बिच कैसे बढ़ी नजदीकियां

Image Source: Google Photos

वर्तमान के समय में विराट कोहली को लाखो लड़को और लड़कियों के यूथ के स्टाइल आइकन भी है। विराट कोहली और अनुष्का शर्मा पहली बार साल 2013 में मिले थे।ये दोनों एक ऐड की शूटिंग के दौरान मिले थे। विराट कोहली और अनुष्का शर्मा एक शैंपू ब्रैंड के लिए टीवी प्रचार शूट कर रहे थे और यही से दोनों की प्रेम कहानी शुरु हुई। विराट कोहली ने एक इंटरव्यू में बताया था कि अनुष्का के साथ उस पहली मुलाकात के दौरान वो काफी नर्वस महसूस कर रहे थे। खबरों के मुताबिक़ कहा जाता है उन्होंने अपनी घबराहट दूर करने के लिए उन्होंने एक मजाक किया। अनुष्का शर्मा को देखकर विराट कोहली ने कहा कि, ‘क्या आपको नहीं लगता कि ये हील्स थोड़ी सी बड़ी है। बस फिर क्या था, ये बात सुनते ही अनुष्का ने कहा, ‘एक्सक्यूज मी।’ इसके बाद साल 2014 साउथ अफ्रीका दौरे से लौटते ही विराट कोहली सीधे अनुष्का के घर के दौरा पर गए थे और तब उन्हें पहली बार स्पॉट किया गया था। तब फिर उसके बाद विराट और अनुष्का में नजदीकियां बढने लगी और कुछ दिनों बाद विराट कोहली ने 11 December 2017 को जर्मनी देश के बोर्गो फिनोच्चीटो में भारतीय अभिनेत्री अनुष्का शर्मा के साथ शादी रचाई . और अब इनकी एक बेटी भी है जिसका नाम वामिका कोहली रखा गया है.

जब पहली बार क्रिकेट के लिए चुना गया विराट कोहली को

जुलाई 2006 में विराट कोहली को भारतीय टीम की Under-19 Cricket खिलाडियों में चुन लिया गया और उनका पहला विदेशे दौरा इंग्लैंड में था। इस इंग्लैंड दौरे में विराट कोहली ने तीन एकदिवसीय मैचो में 105 रन बनाये थे। इसी दौरे में तीन टेस्ट मैचो में उन्होंने 49 रन की औसत से रन बनाये थे।

Image Source : Google Photos

भारत उस वर्ष दोनों सीरीज जीतकर वापस लौटा था। इसी 2006 के वर्ष में साल बाद में विराट ने Under-19 Cricket में पाकिस्तान के खिलाफ शानदार प्रदर्शन किया था | इसके बाद विराट कोहली के प्रतिभा को देखते हुए Under-19 Cricket में विराट को एक स्थाई खिलाड़ी के रूप में रख लिया गया। 18 दिसम्बर 2006 को ब्रेन स्ट्रोक के कारण से काफी दिनों तक आराम करने के बाद उनके पिता प्रेम कोहली की मृत्यु हो गयी।

पिता जी के देहांत के बावजूद जब क्रिकेट खेलते रहे विराट कोहली

18 दिसम्बर 2006 को ब्रेन स्ट्रोक के कारण से विराट कोहली के पिता जी का देहांत हो गया. पिताजी की मृत्यु के बाद कोहली को बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। विराट कोहली ने एक इंटरव्यू में बताया कि उनके युवा दिनों में ही पिताजी को खोने के बाद उनका पारिवारिक व्यवसाय ठीक नहीं चल रहा था और कोहली ने बताया की “मैंने अपने जीवन में बहोत कुछ देखा। मैंने युवा दिनों में ही अपने पिता को खो दिया,जब 2006 में विराट कर्नाटक के खिलाफ रणजी ट्राफी के लिए खेल रहे थे. तब उन्हें उनके पिता की म्रत्यु का पता चला. लेकिन विराट ने पहले अपने मैच को पूरा किया फिर वे अपने घर दिल्ली गए. जिससे पारिवारिक व्यापार भी पुरी तरह से डगमगा गया था, इस वजह से मुझे किराये के रूम में भी रहना पड़ा था।

विराट कोहली की क्रिकेट खेलने की स्टाइल कैसी है।

विराट कोहली एक मध्यक्रम के बल्लेबाज और क्रिकेटर हैं और दायें हाथ के मध्यम गति गेंदबाज भी हैं। कोहली प्रथम श्रेणी क्रिकेट में दिल्ली का प्रतिनिधित्व करते हैं और इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर (RCB) के कप्तान हैं। उन्होंने वेस्ट दिल्ली क्रिकेट अकादमी के लिए भी क्रिकेट खेला है। विराट एक भारतीय बल्लेबाज द्वारा सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड अपने नाम किया है।

जब पहली बार बने ICC में नंबर 1

कोहली ने 2008 में अपने एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय (ODI) शुरुआत की और 2011 के विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे। एकदिवसीय टीम में नियमित होने के बावजूद , कोहली किंग्सटन में वेस्टइंडीज के खिलाफ 2011 में अपना पहला टेस्ट खेला था। कोहली 2012 में आईसीसी वनडे प्लेयर के प्राप्तकर्ता था। 2013 के नवंबर महीने में उन्होंने पहली बार वनडे बल्लेबाज मे शीर्ष स्थान पर काबिज हुए थे।

Manish Yadav is currently working with True Guess as a Cricket Journalist.He is currently working as Cricket News Writer for True Guess Media website. Manish Yadav is a resident of Uttar Pradesh. Who has...

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *