भारत में ऐसे बहुत से खिलाड़ियों के बीच मन मोटाव देखने को मिलते है. यह जरुरी नही की कोई किसी खिलाड़ी को पसंद करता है. यह तो अपनी अपनी सोच पर निर्भर करता है. लेकिन जिस प्रकार से हरभजन सिंह ने 2008 के आईपीएल में श्रीसंत को थप्पड़ जड़ा था वह बहुत ही गलत था. लेकिन इसी बीच हरभजन सिंह ने कहा की आज मैं शर्मिंदा हूँ ,मेरी गलती थी, मैं माफी मांगने के लिए भी तैयार हूँ.

Also Read – क्या भविष्य में कोई खिलाड़ी तोड़ पाएगा महेंद्र सिंह धोनी के ये 3 बड़े रिकॉर्ड, जानिए

टीम इंडिया के सबसे सफल गेंदबाज हरभजन सिंह ने शनिवार को ब्यान देते हुए कहा की 14 साल पहले मैदान में श्रीसंत और मेरी बीच जो भी हुआ बहुत ही गलत था. मुझे ऐसा बिलकुल भी नही करना चाहिए था. उस टाइम मुझे भी कुछ समझ नही आ रहा था की मैंने ये क्या कर दिया. उस गलती के कारण मुझे और मेरी टीम को बहुत ज्यादा शर्मिंदा होना पड़ा.

Also Read – इस युवा भारतीय गेंदबाज की रफ्तार जानकर दक्षिण अफ्रीका के कप्तान तेम्बा बवुमा के छूटे पसीने

हरभजन सिंह ने कहा की मुझें जिन्दगी में एक बार कोई गलती सुधारने का मौका मिले तो मैं श्रीसंत के थप्पड़ वाली गलती को सुधारना चाहूँगा. हरभजन ने आगे यह भी कहा की जब भी आईपीएल में किसी टोपिक पर बात होती है और इसके बारे में विचार करते है तो मुझें बहुत गलत महसूस होता है. क्योकि मुझे ऐसा बिलकुल भी करने की जरूरत नही थी.

Also Read – रोहित शर्मा के इस खास रिकॉर्ड को तौड़कर श्रेयस अय्यर बन सकते हैं भारत के तीसरे खिलाड़ी

इस घटना को 14 साल बीत जाने के बाद श्रीसंत ने इस घटना को लेकर चुपी तोड़ी और कहा हमारे बीच जो कुछ भी हुआ उस बात को मैं दिल पर लेना नही चाहता और हमारे दोनों के बीच सचिन तेंदुलकर ने सुलह भी करवा दी है. इसके बाद श्रीसंत ने कहा की हमारे बीच अब सब कुछ ठीक है.इसके लिए हम दोनों क्रिकेट के भगवान सचिन पाजी का धन्यवाद करतें है जिन्होंने हमारे बीच जो मन मोटाव था उसको दूर किया.

Also Read – Gautam Gambhir ने आईपीएल में काम करने को लेकर आलोचकों को दिया करारा जबाव

श्रीसंत के थप्पड़ कांड पर सचिन ने कहा की आप एक साथ एक ही टीम में खेलते है फिर भी आपको ऐसा करना सही नही है. उसके बाद उसी दिन श्रीसंत और हरभजन ने एक साथ बैठकर खाना खाया और अपनी गलती का अहसास किया. लेकिन मिडिया वाले इस बात को बढ़ा चढ़ाकर पेस करने लेगे.

आईपीएल के डेब्यू सीजन में ब्रेंडन मैकुलम की तूफानी पारी सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बनी थी. लेकिन श्रीसंत के थप्पड़ कांड ने ब्रेंडन मैकुलम की पारी पर पानी फैर दिया और चारों तरफ हरभजन द्वारा श्रीसंत को थप्पड़ मारने की घटना ने काफी जोर पकड़ा. इसके बारे में सभी क्रिकेट दर्शक सोचकर हैरान रह गए.

Also Read – दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टी20 में इतिहास रचने से एक कदम दूर टीम इंडिया, जानिए

आपको बता दूँ की इतना सब कुछ होने के बाद भी हरभजन सिंह और श्रीसंत दोनों ही खिलाड़ी 2011 वर्ल्ड कप विजेता भारतीय टीम में शामिल थे. हरभजन ने अपने क्रिकेट करियर में भारत के लिए 367 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में 711 विकेट लेने का कारनामा किया वही श्रीसंत ने 90 अंतरराष्ट्रीय मैचों में 169 विकेट लेने में महारत हासिल की थी.

I am Founder of Trueguess.com. I am Capable to run Online Business and Now running Trueguess.com as Senior Editor.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *