Rohit Sharma Life Story: भारतीय टीम के कप्तान हिटमैन रोहित शर्मा ने अपनी जिंदगी में बहुत सी चुनौतीयों का सामना किया है. रोहित शर्मा के घर के आर्थिक हालात पहले बहुत ही खराब थे. आपको बता दूँ की रोहित का जन्म 30 अप्रैल 1987 को बंसोड़, नागपुर, महाराष्ट्र के मध्यबर्ती हिन्दू परिवार में हुआ था. रोहित शर्मा के पिता का नाम गुरुनाथ शर्मा है जो एक परिवहन कंपनी भंडार में नोकरी किया करते थे और उनकी माता का नाम पूर्णिमा शर्मा है जो एक पेशे से घृहिणी की जिंदगी जीती है.

रोहित का जीवन दादा-दादी की छाया में पला था. वैसे रोहित शर्मा को बचपन से क्रिकेट खेलना बहुत ज्यादा पसंद था. हिटमैन को अक्सर गली क्रिकेट खेलना बहुत ज्यादा अच्छा लगता था. इसी को देखते हुए रोहित को 6ठी कलश में एक बार स्थानीय क्लब में क्रिकेट खेलने का चांस मिला था.

उस समय रोहित बल्ले और गेंद दोनों में अपना हाथ अजमाते थे. क्योकि रोहित शेम गली क्रिकेट में ऑफ स्पिन गेंदबाजी करने में माहिर थे. जिसके चलते रोहित शर्मा के स्कूल कोच दिनेश लाड को इसमें एक बड़े खिलाड़ी बनने के पीछें की सारे गुण भाप लिए थे. इसके बाद रोहित को 1999 में अंडर -12 क्रिकेट टूर्नामेंट में खेलने का मौका मिला था.

इसके बाद रोहित शर्मा ने पीछें मुड़कर नही देखा और नेट दिन रात मेहनत करते चले गए. इसके बाद एक के बाद बड़ी-बड़ी टूर्नामेंट में खेलने का मौका मिला. रोहित का हमेशा से एक ही सपना था की वह भारत के लिए अपने खेल के जरिये अपने देश नाम रोशन करे.

रोहित शर्मा का परिवार

अगर नजर डाली जाए रोहित शर्मा की निजी जिंदगी के उपर तो हिटमैन के पिता एक परिवहन कंपनी भंडार में नोकरी किया करते थे और माता हाउस वाइफ है. रोहित शर्मा एक भाई भी है जिनका नाम विशाल शर्मा है. हिटमैन ने 13 दिसंबर 2015 को रितिका सजदेह के साथ शादी के बधन में बधे थे. जो एक एक पेसे से खेल प्रबंधक है. जिनका उपनाम रिट्स है. रोहित और रितिका की एक प्यारी सी बेटी भी है जिनका नाम समीरा शर्मा है.

हिटमैन का घरेलू क्रिकेट कैरियर डेब्यू

हिटमैन रोहित ने साल 2005 में लिस्ट ए में घरेलू क्रिकेट कैरियर डेब्यू किया था. लिस्ट ए में रोहित ने देवधर ट्रॉफी में बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया था. इस ट्रॉफी में रोहित शर्मा ने एक मैच में 123 गेंदों में 142 की बहुत ही लाजबाव पारी खेली. उसके बाद अबु धाबी में भी बहुत ही लाजबाव प्रदर्शन रहा. इन सब प्रदर्शन को देखते हुए रोहित को रणजी ट्राफी में खेलने का मौका मिला.

वहा से इस खिलाड़ी की किस्मत ही बदल गई साल 2006 में प्रथम श्रेणी में न्यूजीलैंड के खिलाफ मैच खेलने का मौका मिला. इसके साथ ही रोहित को साल 2007 में मुंबई की तरफ से एक बार फिर गुजरात की विरुद्ध पहला रणजी ट्रॉफी के लिए चुना गया. उस मैच में रोहित ने बल्ले से आग उगलते हुए 267 गेंदों का सामना करते हुए 205 रनों की बहुत ही उम्दा पारी खेली. उसके बाद रोहित शर्मा का अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में चयन हो गया.

रोहित का अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर

रोहित के अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट कैरियर के उपर नजर डाली जाए तो रोहित को पहला वनडे मैच 23 जून 2007 को आयरलेंड के खिलाफ खेलने का मौका मिला था. हालांकि इस मैच में रोहित शर्मा को बल्लेबाजी करने का मौका नही मिला था. उसके बाद रोहित शर्मा ने 19 सितंबर 2007 को इंग्लैंड के खिलाफ टी20 में डेब्यू करने का मौका मिला था.

इसके बाद हिटमैन को 20 सितंबर 2007 को आईसीसी विश्व टी20 टूर्नामेंट के लिए चुना गया और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मैच में 40 गेंदों का सामना करते हुए 50 रन की बहुत ही लाजबाव पारी खेली. इसके साथ ही आईसीसी विश्व टी20 टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान के खिलाफ रोहित ने 16 गेंदों में 30 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली थी. इतना भी नही रोहित शर्मा ने 6 नवंबर 2013 को वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू किया था.

हिटमैन के कितने बच्चें है?

वैसे जानकारी के मुताबिक़ आपको बता दूँ की रोहित शर्मा की एक ही बेटी है. जिनका नाम समीरा शर्मा है. जिनका जन्म 30 दिसंबर 2018 को हुआ था.

हिटमैन रोहित की वाइफ क्या काम करती है?

वैसे सभी के मन एक सवाल चलता रहता है की आखिर रोहित शर्मा की क्या काम करती है. ऐसे में जानकारी के मुताबिक़ आपको बता दूँ की रितिका सजदेह जो की पेशे से खेल प्रबंधक के रूप में कार्यरत है. जिनको कुतों के साथ बहुत ज्यादा लगाव है. जो रोहित शर्मा को प्यार से रो कहकर पुकारती है.

I am Co-Founder of Trueguess.com. I am Capable to run Online Business and Now running Trueguess.com as Senior Editor.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *