Overview:

ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर कोहली का रिकॉर्ड ही इतना विराट है कि कोई भी उसके आगे नहीं ठहरता। यही वजह है कि अगर इस बार भारत को वर्ल्ड कप जीतना है तो विराट के तूफानी प्रदर्शन के बगैर यह मुमकिन नहीं होगा। T-20 वर्ल्ड कप इतिहास में 2 बार साल 2014 और 2016 में 'मैन ऑफ द टूर्नामेंट' का खिताब जीतने वाला विराट इकलौता खिलाड़ी है।

भारत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वॉर्म अप मैच खेल रहा था और रिकी पोंटिंग कमेंट्री बॉक्स में बैठकर विराट की तारीफ में कसीदे पढ़ रहे थे। ऑस्ट्रेलिया के सफलतम कप्तान ने विराट कोहली को क्रिकेट इतिहास का सर्वश्रेष्ठ व्हाइट बॉल बल्लेबाज बताया है।

ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर कोहली का रिकॉर्ड ही इतना विराट है कि कोई भी उसके आगे नहीं ठहरता। यही वजह है कि अगर इस बार भारत को वर्ल्ड कप जीतना है तो विराट के तूफानी प्रदर्शन के बगैर यह मुमकिन नहीं होगा। T-20 वर्ल्ड कप इतिहास में 2 बार साल 2014 और 2016 में ‘मैन ऑफ द टूर्नामेंट’ का खिताब जीतने वाला विराट इकलौता खिलाड़ी है।

विराट ने ऑस्ट्रेलिया में 11 टी-20 मुकाबले खेले हैं और भारत की तरफ से सबसे ज्यादा 451 रन बनाए हैं। 64.42 की बेहतरीन औसत और 145 की स्ट्राइक रेट से ये रन आए हैं। जिस मेलबर्न में भारत पाकिस्तान के खिलाफ अपने वर्ल्ड कप अभियान की शुरुआत करेगा, वहां विराट ने 3 टी-20 मुकाबलों में 90 रन बनाए हैं। एक तूफानी अर्धशतक ठोक कर टीम इंडिया को मैच जिताए हैं। पाकिस्तान के खिलाफ हर बार विराट का बल्ला जमकर बोलता है और इस बार भी उनसे वही उम्मीद है।

भारत विश्व कप का अपना दूसरा मुकाबला क्वालीफायर वन की विजेता टीम से जिस सिडनी में खेलेगा, वहां 4 टी-20 मुकाबले खेलकर विराट ने 3 अर्धशतक लगाया है। 76.66 की औसत से शानदार 236 रन बनाया है। इस मैदान पर खेले गए 4 टी-20 मुकाबलों में से 3 में हिंदुस्तान को जीत दिलाया है। ऐसे में सिडनी में भी विराट से दमदार पारी की आस है।

अपने विश्व कप अभियान का तीसरा मुकाबला भारत पर्थ में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेलेगा। यहां पूरे ऑस्ट्रेलिया की तुलना में विकेट पर सबसे ज्यादा उछाल होती है। ऐसे में जो बल्लेबाज कट और पुल ठीक से खेल पाते हैं, वे यहां सफल हो जाते हैं। भारत ने पर्थ में अब तक कोई T-20 इंटरनेशनल मुकाबला तो नहीं खेला लेकिन किंग ने यहां 5 वनडे में 60.50 की औसत से 242 रन बनाए हैं। इस दौरान उसके बल्ले से 2 अर्धशतक आए हैं। यकीन है कि अफ्रीकी पेस अटैक की धज्जियां उड़ाएगा। विराट भारत को यह मुकाबला भी निश्चित जिताएगा।

सुपर- 12 का चौथा मुकाबला भारत 2 नवंबर को एडिलेड में बांग्लादेश के खिलाफ खेलेगा। यहां अब तक हिंदुस्तान ने केवल एक टी-20 मुकाबला खेला है, जिसमें किंग कोहली ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ताबड़तोड़ 90 रन बनाया था। भारत को 37 रन से मुकाबला जिताया था। तय मानो कि इस बार बांग्लादेश को भी नहीं छोड़ेगा। उसके तमाम गेंदबाजों को मारकर तोड़ेगा।

भारत लीग स्टेज का अपना आखिरी मुकाबला क्वालीफायर ग्रुप 2 की विजेता टीम से मेलबर्न में खेलेगा। हमने ऊपर बता ही दिया है कि वहां विराट सबसे सफल बल्लेबाज है। उसने गिराई तमाम गेंदबाजों पर गाज है। वैसे अगर ऑस्ट्रेलिया की बात करें तो वहां 29 वनडे मुकाबले खेल कर किंग ने 51.03 की औसत से 1327 रन बनाए हैं। इस दौरान 6 अर्थशतक और 5 शतक लगाए हैं। 13 टेस्ट मैचों में किंग के बल्ले से 1352 रन आए हैं। ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट क्रिकेट में 54.08 की दमदार एवरेज से खेलते हुए विराट ने 4 अर्धशतक और 6 शतक लगाए हैं।

आंकड़े भरोसा दिला रहे हैं 15 साल बाद पूरा हर हिंदुस्तानी क्रिकेट फैन का सपना होगा। अबकी बार विराट के शानदार प्रदर्शन के बूते T-20 वर्ल्ड कप अपना होगा। दुनिया की सबसे मजबूत गेंदबाजी आक्रमण माने जाने वाली ऑस्ट्रेलिया में हर बार अपने बल्ले से पराक्रम दिखाया है, इसलिए तो विराट ‘किंग कोहली’ कहलाया है।

Manish Sewada is born and brought up in Jaipur, Rajasthan. He is Content Writer in tech, entertainment and sports. He has experience in digital Platforms from 4 years. He has obtained the degree of Bachelor...

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *