वैसे देखा जाए तो भारतीय टीम ने टी20 वर्ल्ड कप 2022 में बहुत ही लाजबाव प्रदर्शन किया है. जिसके चलतें आज भारत टी20 विश्व कपो के सेमीफाइनल में जगह बना पाया है. लेकिन अभी भी भारतीय टीम में कुछ ऐसे खिलाड़ी है जिन्होंने टी20 वर्ल्ड कप 2022 में न तो बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया है ना ही गेंदबाजी से.

तो आज हम आपको इस लेख में 3 ऐसे भारतीय खिलाड़ियों के बारे में बताने वाले है. जिनको टी20 विश्व कप के बाद टी20 फॉर्मेट में भारतीय टीम में कभी भी स्थान नही मिलेगा. तो चलिए दोस्तों जानते है उन 3खिलाड़ियों के बारे में.

दिनेश कार्तिक

एक समय ऐसा लग रहा था की भारतीय टीम में दिनेश कार्तिक कभी भी टीम में वापसी नही कर पाएगी. लेकिन आईपीएल की जबरदस्त फॉर्म के बाद एक बार फिर से कार्तिक ने टीम इंडिया का दरवाजा खटखटा दिया. इसके बाद भारतीय टीम को जिस फिनिशर की तलास थी वह पूरी हो गई.

भारतीय टीम के 37 वर्षीय बल्लेबाज दिनेश कार्तिक फिलहाल टीम में फिनिशर की भूमिका अदा कर रह है. लेकिन अभी तक कार्तिक के बल्ले से अभी तक टी20 वर्ल्ड कप 2022 में फिनिशर वाली पारी देखने को नही मिल है.

कार्तिक ने अब तक टी20 विश्व कप 2022 में 4 मुकाबले खेलते हुए मात्र 14 रन ही बना पाए है. इस खराब फॉर्म को देखते हुए ऐसा लग रहा है की टी20 वर्ल्ड कप के बाद इस फिनिशर की भारतीय टीम से छुट्टी होने वाली है.

क्योकि इसके बाद भी भारत के पास ईशान किशन, संजू सैमसन और ऋषभ पंत जैसे विस्फोटक विकेटकीपर बल्लेबाज भरे पड़े है.

Also Read – टी20 वर्ल्ड कप 2022 के ग्रुप-1 में इन 2 टीमों ने किया सेमीफाइनल में क्वालीफाई

मोहम्मद शमी

टीम इंडिया में टी20 वर्ल्ड कप में मोहम्मद शमी का मौका कही भी नही बन रहा था. लेकिन जसप्रीत बुमराह के चोटिल होने के कारण शमी की किस्मत चमक गई. लेकिन आने वाले समय में भारतीय टीम में टी20 वर्ल्ड कप के बाद मोहम्मद शमी को टी20 फोर्मेट में कभी भी जगह नही मिल पाएगी.

टीम इंडिया में ऐसे बहुत से तेज युवा गेंदबाज है जो शमी से बेहतर गेंदबाजी के लिए जाने जाते है. टी20 वर्ल्ड कप में शमी ने 5 मुकाबले खेलते हुए 6 विकेट हासिल कियें है. लेकिन उम्र के हिसाब से इस खिलाड़ी को आगे मौके मिलना बहुत ही मुश्किल नजर आ रहा है.

Also Read – सूर्यकुमार यादव ने आईसीसी टी20 रैंकिंग में रचा इतिहास, पाकिस्तानी इस बल्लेबाज को लगा बड़ा झटका

रविचंद्रन अश्विन

स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन भी अपनी गेंदबाजी से कुछ खास प्रदर्शन नही कर पाए. इस खिलाड़ी को भारतीय टीम की प्लेइंग-11 का हिस्सा इसलिए बनाया गया था की जब भारत को लास्ट ओवर में कुछ रनों की जरूरत हो तो अश्विन को मैदान में उतारा जा सके. इसके लिए कही हद तक यह फ़ॉर्मूला कामयाब भी रहा.

लेकिन बल्ले से जरुर तो कभी-कभी पड़ती है. हालांकि रविचंद्रन अश्विन अपना मेन काम तो भूल ही गए. अश्विन ने टी20 वर्ल्ड कप में 4 मैच खेलते हुए मात्र 3 विकेट ही ले पाए है. इस खराब फॉर्म को देखतें हुए वर्ल्ड कप के बाद इस खिलाड़ी का टी20 से पता हमेशा के लिए कट सकता है.

Also Read – BCCI क्या है ? BCCI के President और Secretary कौन है.

आपको क्या लगता है दोस्तों इन 3 खिलाड़ियों को आगे भी भारतीय टीम में मौके मिलते रहेगें. इसके बारे में आपका क्या कहना है आप भी अपनी राय कमेंट में जरुर दे. अगर आपको यह लेख पसंद आया तो इसको ज्यादा से ज्यादा शेयर जरुर करे.

I have full dedication to write content on cricket analysis.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *