टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बिहार के बेगूसराय में एक मुकदमें को लेकर कैस में फस गए है. आपको बता दूँ की यह मामला एक 30 लाख के चेक बाउंस होने को लेकर मुकदमा दर्ज हुआ है. जानकारी के मुताबिक D S Enterprises के मालिक नीरज कुमार निराला ने बेगूसराय में न्यू ग्लोबल उपज बर्द्धक इंडिया लिमिटेड के चेयरमैन और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी सहित कंपनी के 7 सदस्य पर अपराध करने का केस दर्ज करवाया है.

Also Read – IND Vs SA: T20 सीरीज से पहले BCCI ने सभी खिलाड़ियों के लिए जारी की गाइडलाइंस, जानिए

न्यू ग्लोबल उपज बर्द्धक इंडिया लिमिटेड के चेयरमैन नीरज कुमार निराला ने आरोप लगाते हुए कहा की साल 2021 में 36 लाख 86 हजार रुपए देकर Fertilizer का मार्केटिंग करने वाली संबंधित कंपनी का CNF लिया था. लेकिन आपको बता दूँ की प्रॉडक्ट की मार्केटिंग उत्साहजनक न होने बाद कंपनी द्वारा भेजा गया Fertilizer वापिस भेज दिया गया. इसके बदले में कंपनी द्वारा 30 लाख का check issued किया था. लेकिन समय पर चेक वेरीफाई नही हुआ और चेक बाउंस हो गया था.

Also Read – दोस्त हो तो ऐसा: अपने प्रिय दोस्त की जान बचाने के लिए एमएस धोनी ने भेजा हेलीकाप्टर

इसको देखते हुए नीरज कुमार निराला ने इन सभी को लीगल नोटिस दिया गया. लेकिन कंपनी द्वारा इस लीगल नोटिस का कोई जबाव नही दिया और Neeraj Kumar Nirala ने MS Dhoni समेत 7 सदस्य पर CJM रूम्पा कुमारी के समक्ष complaint कर दी है. इसके उपर एक्शन लेते हुए न्यायालय ने भारतीय दंड संहिता की धारा 406, 420 और138 के तहत इस केस की जाँच judicial magistrate अजय मिश्र को दी गई है.

Also Read – टी20 में धोनी, कोहली और रोहित में से कौन है भारतीय टीम का सर्वश्रेष्ठ कप्तान

धोनी को इस केस में इसलिए घसीटा जा रहा है की धोनी ने Fertilizer प्रॉडक्ट विज्ञापन किया था. लेकिन धोनी को क्या पता था की उसनके साथ बाद में कुछ ऐसा होने वाला है. तो दोस्तों आपका इस केस और धोनी को लेकर आपका क्या कहना है. क्या इस केस में Dhoni अपराधी है.

I am Founder of Trueguess.com. I am Capable to run Online Business and Now running Trueguess.com as Senior Editor.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *