भारतीय टीम के महान खिलाड़ी और क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने अपनी बल्लेबाजी से सभी का दिल जीता था. जब भी यह खिलाड़ी मैदान में खेलने के लिए उतरता था तो विरोधी टीम की टेंशन बढ़ जाती थी. क्योकि सचिन एक ऐसे खिलाड़ी थे जो अपने दम पर मैच को जीताने का दम रखते थे.

Also Read – राहुल द्रविड़ पर भड़के पूर्व भारतीय कप्तान श्रीकांत, मुझे नहीं चाहिए द्रविड़ की सोच

लेकिन इंटरनेशनल क्रिकेट के सन्यास लेने के बाद भी इस खिलाड़ी के फैन्स की तादात कम नही हुई. परंतु सचिन को लेकर एक ट्वीट बहुत ज्यादा सुर्खियां बटोर रहा है. जिसका ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज को ट्वीट का रिप्लाई करना बहुत महगा पड़ा और फैन्स ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज पर भड़क उठे.

Also Read – कोहली पर दबाव बनाने को लेकर पूर्व भारतीय टीम के चयनकर्ता सबा करीम ने दिया बड़ा बयान

क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने कॉमनवेल्थ गेम्स में क्रिकेट की वापसी पर टीम इंडिया की महिला क्रिकेट को नए सफर की बहुत बहुत को शुभकामनाएं दीं है. और कहा की मुझें कॉमनवेल्थ गेम्स में क्रिकेट की वापसी को लेकर बहुत अच्छा लग रहा है. उम्मीद करता हूँ की इस खेल को नए देखने वाले मिलेगे. एक बार फिर से मैं भारतीय टीम को कॉमनवेल्थ गेम्स के इस खास सफर के लिए शुभकामनाएं देता हूँ

Also Read – सचिन तेंदुलकर को लेकर रवि शास्त्री का बड़ा बयान, सचिन में जो कीड़ा था वो आज के खिलाड़ियों में नहीं

लेकिन सचिन तेंदुलकर के इस ट्वीट का ऑस्ट्रेलिया के ओपनर मार्नस लैबुशेन ने रिप्लाई करते हुए कमेंट किया की इस बात से मैं बिलकुल सहमत हूँ सचिन. क्योकि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच भी एक बेहतर ओपनिग मैच देखने को मिलेगा. परंतु मार्नस लैबुशेन का सचिन के ट्वीट का रिप्लाई करना सचिन को चाहने वाले फैन्स को बिल्कुल भी पसंद नही आया.

Also Read – क्रिकेट कमेंटेटर हर्षा भोगले के ट्वीट पर ट्विटर यूजर ने दिया करारा जवाब, कहा- ये जीत भी क्या जीत है

क्योकि इसके पीछें का सबसे बड़ा कारण यह था की लैबुशेन ने रिप्लाई करते हुए सचिन के नाम के आगे सर नही लिखा. इसी बात को लेकर सचिन तेंदुलकर के फैन्स ऑस्ट्रेलिया के ओपनर मार्नस लैबुशेन के ट्वीट पर आगबबूला हो गए.

कुछ दर्शकों ने तो यह भी कहा की जब आप बच्चें थे उस समय यह खिलाड़ी विरोधी टीम को बल्ले से जबाव देते थे. क्रिकेट के इतने बड़े खिलाड़ी को सर कहकर तो बुला सकते है. कुछ ने तो यह बभी कह डाला की आपको छोटे-बड़े में कुछ अंतर भी नजर नही आता की किसके साथ किस तरह की बात करते है.

Also Read – शिखर धवन ने भारतीय टीम के पूर्व कप्तान एमएस धोनी को पीछे छोड़ वेस्टइंडीज के खिलाफ रचा इतिहास

तो दोस्तों आपके हिसाब से क्या ऑस्ट्रेलिया के ओपनर मार्नस लैबुशेन को सचिन को बिना सर के बोलना सही है या गलत इसके बारे में आपका क्या कहना है. इसके बारे में आपके क्या विचार है हमारे साथ जरुर सांझा करे. अगर आपको यह लेख पसंद या तो इसको ज्यादा से ज्यादा अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे.

I am Founder of Trueguess.com. I am Capable to run Online Business and Now running Trueguess.com as Senior Editor.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *